Logo
  • July 24, 2024
  • Last Update June 22, 2024 7:38 am
  • Noida

Kashi Dev Deepawali, तस्वीरों में देखें अद्भुत काशी की अभूतपूर्व देव दीपावली, अलौकिक मंजर देखकर भावविभोर हुए भक्त !

Kashi Dev Deepawali, तस्वीरों में देखें अद्भुत काशी की अभूतपूर्व देव दीपावली, अलौकिक मंजर देखकर भावविभोर हुए भक्त !

Kashi Dev Deepawali, अद्भुत काशी की अभूतपूर्व देव दीपावली ! संपूर्ण विश्व को मोक्ष प्रदान करने वाली वाराणसी में असंख्य दीपों वाली देव दीपावली मनाई गई। आप सब भी इस अलौकिक क्षण के साक्षी बनें।

dev deepawali 
देवाधिदेव महादेव बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में देव दीपावली के मौके पर अलौकिक मंजर देखने को मिला। इस मौके को चिरंतन और अविस्मरणीय बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन विभाग ने खास तैयारियां की हैं। ड्रोन कैमरों की मदद से आप तक पहुंचाई जा रही हैं मां गंगा के किनारों पर रोशनी से नहाई काशी की कमाल की तस्वीरें। (फोटो सौजन्य-@uptourismgov)

 

dev deepawali 
गंगा किनारे बसने वाले कलाकारों ने मातृभूमि से मिट्टी लेकर सैकड़ों दीये तैयार किए। इन दीपकों की रोशनी में देव दीपावली का मंजर ऐसा दिखा मानो ज्योति यानी प्रकाश की लौ पूर्णिमा के मौके पर चांद तक की चमक फीकी कर रही है। एरियल शॉट में नजारा इतना विहंगम दिखा मानो काशी विश्वनाथ के दरबार का सौंदर्य देखकर कैलाशपति महादेव खुद झूम उठे हों।
dev deepawali 
देश-दुनिया से जुटने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए देव दीपावली की शाम अविस्मरणीय बने, इसके लिए वैज्ञानिक तरीकों से प्रकाश की ‘बारिश’ के प्रयास किए जाते हैं। मां गंगा कि लहरों से पैदा होने वाला संगीत और लेजर लाइट की तरंगों के बीच देव दीपावली 2022 निश्चित रूप से अविस्मरणीय बन गई।
dev deepawali 
मां गंगा की गोदी में नाव पर बैठे श्रद्धालुओं ने बाबा विश्वनाथ के दरबार का अलौकिक मंजर देखा। इस मौके पर मन और आस्था की आंखों से गंगा किनारे कुछ ऐसे दिखाई दे रहे थे, मानो दूधिया रौशनी में नहाए गंगा किनारे देवलोक के देवी-देवताओं को कलयुग में काशी वास के लिए आमंत्रित कर रहे हों।
dev deepawali 
काशी विश्वनाथ के दरबार में हाजिरी लगाने से पहले मां गंगा का पुण्य स्मरण और उनकी आंचल में डुबकी लगाना अनिवार्य है। मां गंगा की लहरों के बीच कार्तिक महीने में स्नान करने का पुण्य अर्जित करने के बाद लाखों श्रद्धालु बाबा विश्वनाथ का दर्शन करते हैं। कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर गंगा द्वार कुछ ऐसा दिख रहा था, मानो विज्ञान के समर्थन से लेजर लाइट जलाकर देवी-देवताओं को निमंत्रण दिया गया और उनके आने का मार्ग तैयार किया जा रहा हो।
dev deepawali 
गंगा किनारे उतरे ‘आकाशगंगा के सितारे’ , काशी में मनायी गयी भव्य और अलौकिक देव दीपावली। 21 लाख दीपों से जगमग हुई सम्पूर्ण काशी नगरी, गंगा तट पर जलाये गये 10 दीये। उत्तर प्रदेश टूरिज्म डिपार्टमेंट के ट्विटर हैंडल (@uptourismgov) से शेयर की गईं तस्वीरें खुद सारी कहानी बयां कर रही हैं। आखिरकार एक तस्वीर लाखों शब्दों के बराबर जो होती है।
dev deepawali 
कैमरे की लेंस में काशी की देव दीपावली की ऐसी तस्वीरें कैद हुई हैं, जिनसे स्वर्ग में होने का या यूं कहें कि पारलौकिक एहसास होना स्वाभाविक है। ऐसे नजारों के बीच कुछ वक्त गुजारने पर ऐसी अनुभूति होती है मानो देवलोक / स्वर्ग से काशी पहुंचे देवी-देवता और काशी का अलौकिक मंजर देखकर भावविभोर हुए भक्तों के समागम से पैदा होने वाली भावनात्मक लहरें मां गंगा की लहरों की तरह ही हर एक निश्छल आंख से प्रेम की अविरल धारा के रूप में छलक उठेगी।
dev deepawali 
मोक्षनगरी काशी में जब हर दिन शाम के समय मां गंगा की आराधना के लिए गंगा आरती का आयोजन होता है तो इस समय का मंत्रोच्चार, घंटियों की ध्वनि और संगीत की धुन पारलौकिक एहसास कराती है।
dev deepawali 
देव दीपावली के मौके पर लाखों की संख्या में उमड़े श्रद्धालुओं को भागीरथी गंगा के किनारों पर दीपमाला और अन्य आयोजनों का आनंद लेते देखा जा सकता है। दशाश्वमेध घाट से क्लिक की गई तस्वीर।
dev deepawali 
दूधिया रोशनी से नहाई काशी की धरती पर जब देवलोक के देवी-देवताओं का आगमन हुआ तो पहचानना मुश्किल था कि दिव्य धराधाम काशी में भक्त कौन भगवान कौन। ऐसा लग रहा था मानो देव दीपावली के मौके पर रामचरितमानस के रचयिता गोस्वामी तुलसीदास की पंक्तियां चरितार्थ हो रही हों, जब उन्होंने कहा- सीयराम मय सब जग जानि, करहूं प्रनाम जोरी जुग पानी। अर्थात पूरी दुनिया में बस सीता-राम की छवि दिखाई दे रही है, और दोनों हाथों को जोड़कर भक्त उन्हें प्रणाम कर रहे हैं।
dev deepawali 
दशाश्वमेध घाट पर यूं तो प्रतिदिन गंगा आरती देखने के लिए श्रद्धालुओं और पर्यटकों का हुजूम उमड़ता है, लेकिन कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर विहंगम नजारे को अपने नयनों से निहारना और पारलौकिक मंजर को अपनी स्मृति में चिरस्थायी कर लेना अलग ही अनुभूति कराता है। ऐसा ही नजारा दिखा जब दर्शक भावविभोर होने के अलावा मंत्रमुग्ध भी हो गए।

===============================================================================================================================================================================================================

Kashi Dev Deepawali, तस्वीरों में देखें अद्भुत काशी की अभूतपूर्व देव दीपावली

==============================================================================================================================================================================================================

Kashi पहुंचे Film Director Eklavya Sakpal, छटा निहार हुए मंत्रमुग्ध

=============================================================================================================================================================================================================

Dev Deepawali, तैयारियां पूरी, घाटों का नजारा, टूटेगा कंस का अहंकार

editor

Related Articles