Logo
  • July 25, 2024
  • Last Update July 25, 2024 2:05 pm
  • Noida

UP Transport Department में धांधली की आशंका, आरटीओ के चेकिंग दस्ते में 12 दिनों तक ‘मौन’ रहे अधिकारी को नोटिस

UP Transport Department में धांधली की आशंका, आरटीओ के चेकिंग दस्ते में 12 दिनों तक ‘मौन’ रहे अधिकारी को नोटिस

UP Transport Department के एक अधिकारी में चेकिंग में कोई काम नहीं किया। उप परिवहन आयुक्त की तरफ से चेकिंग अधिकारी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। उप परिवहन आयुक्त लखनऊ परिक्षेत्र निर्मल प्रसाद ने नाराजगी व्यक्त करते हुए काम नहीं करने वाले लखनऊ के एआरटीओ प्रशासन अखिलेश द्विवेदी को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर की तरफ से फुटकर सवारियां ढो रहीं अवैध बसें और तय क्षमता से ज्यादा माल लादने वाले ओवरलोड ट्रकों को पकड़ने के लिए लखनऊ मंडल में 19 अफसरों की भारी भरकम टीम लगाई गई है। इन अफसरों ने एक से 12 दिसंबर तक 157 बसों का चालान कर 28 अनफिट बसें जब्त करने की कार्रवाई की। 740 ट्रकों का चालान करते हुए 325 ट्रकें विभिन्न थानों में बंद कराए, लेकिन एक अफसर ने कोई काम नहीं किया। मंगलवार को चेकिंग दलों के कार्यो की समीक्षा की गई। लखनऊ परिक्षेत्र में तैनात किए गए 19 अफसरों में तीन छुट्टी पर है तो लखनऊ के एआरटीओ प्रवर्तन अखिलेश द्विवेदी ने 12 दिनों में कोई काम नहीं किया। काम का नतीजा शून्य है। अब नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है।

ड्राइवर-कंडक्टरों को बहाल किए जाने की मांग

लखनऊ। सेंट्रल रीजनल वर्कशॉप कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री व इंटक के प्रदेश सचिव प्रभारी जसवंत सिंह ने कहा है कि पूर्व में तैनात संविदा कर्मियों के अपराध संज्ञेय अपराध नहीं होता है यह मात्र दुर्घटना होती है। ऐसे में ऐसे कर्मियों को बहाल करके ड्राइवर कंडक्टरों की कमी को दूर किया जा सकता है। इस बहाली प्रक्रिया से जहां बेरोजगार को रोजगार मिलेगा तो ड्राइवर-कंडक्टर के आभाव में डिपो में खड़ी बसों को रूट पर भेजा जा सकेगा। इससे यात्रियों को बेहतर सुविधा मिलेगी।

Related Articles