Logo
  • April 19, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Diwali 2022 : काशी पॉटरी क्लस्टर में लाखों दीयों का ऑर्डर, खादी ग्रामोद्योग आयोग से 50 महिलाओं को लाभ

Diwali 2022 : काशी पॉटरी क्लस्टर में लाखों दीयों का ऑर्डर, खादी ग्रामोद्योग आयोग से 50 महिलाओं को लाभ

Diwali 2022 कई मायनों में विशेष है। दीपावली को त्योहारों को देखते हुए मिट्टी का दीया बनाने वाली महिलाओं की आमदनी बढ़ी है। भारत सरकार के खादी ग्रामोद्योग आयोग द्वारा चलाए जा रहे स्फूर्ति योजना से बनारस में लगाए गए काशी पॉटरी क्लस्टर मैं लगभग 50 महिलाएं दीपावली के दीए बना रही हैं। इसमें पारंपरिक और सादे दीये के साथ-साथ 10 तरह के डिजाइनर दीये भी शामिल हैं।

diwali 2022
काशी पॉटरी कल्ब में दीया निर्माण की जानकारी सीडीए आशीष सिंह ने दी।

दीपावली में तीन लाख से ज्यादा दीये

काशी पॉटरी क्लस्टर में दीया बनाने की ट्रेनिंग महिलाओं को दी जा रही है। ऑर्डर मिलने पर उन्हें काम भी दिया जाता है। इस वर्ष काशी की देव दीपावली में तीन लाख से ज्यादा दीये लगने वाले हैं। इसका आर्डर यहां की महिलाओं को मिला हुआ है और वह दिन रात लग कर महिलाएं आर्डर को पूरा करने में जुटी हुई हैं।

diwali 2022
काशी पॉटरी कल्ब में दीया निर्माण में जुटीं महिला सदस्य

अधिक दीया बनाने से आमदनी भी बढ़ी

काशी पॉटरी क्लस्टर में काम करने वाली रेखा ने बताया कि ज्यादा आर्डर मिलने से हमें खुशी है और हम दिन रात लग कर उस ऑर्डर को पूरा कर रहे हैं। हमारी आमदनी भी बढ़ी है।

diwali 2022
काशी पॉटरी कल्ब में दीया निर्माण के बाद खूबसूरत दीये

उत्साह के साथ हो रहा है काम, ओवरटाइम की टेंशन नहीं

दीया बनाने वाले केंद्र काशी पॉटरी क्लस्टर पर एक अन्य महिला सुशीला ने बताया कि पारंपरिक दीयों के साथ 10 तरह के डिजाइनर दीये भी बनाए जा रहे हैं। केंद्र पर बड़े ऑर्डर के कारण सुबह जल्दी आते हैं। शाम को देर से घर जाते हैं। ज्यादा काम करने के कारण हम लोगों की आमदनी भी ज्यादा हो रही है।

diwali 2022
काशी पॉटरी कल्ब में दीया निर्माण के बाद खूबसूरत दीये

अधिक काम करना पड़ रहा, लेकिन उत्साह भी है

काशी पॉटरी क्लस्टर के सीडीए आशीष सिंह ने बताया कि काशी की देव दीपावली के लगभग ढाई से तीन लाख दिनों का आर्डर मिले हैं। महिलाओं को इस समय ज्यादा काम करना पड़ रहा है, लेकिन उनकी आमदनी भी बढ़ी है।

diwali 2022
काशी पॉटरी कल्ब में दीया निर्माण में जुटीं महिला

दिल्ली तक है दीयों की डिमांड

वाराणसी में दीया निर्माण में जुटीं महिलाओं की कला और कला की पॉपुलैरिटी के संबंध में सीडीए आशीष ने बताया कि हमारे डिजाइनर दिए दिल्ली तक जा रहे हैं और आसपास के जिलों में भी इनकी डिमांड है।

ये भी पढ़ें- Dhanteras के मौके पर देशभर के बाजारों में रौनक, दीपदान करने से अकाल मृत्यु से मुक्ति, वैद्यों के लिए भी अहम दिन

Related Articles