Logo
  • May 21, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Varanasi, कोरोना काल में मृत आत्माओं की सद्गति के लिए त्रिपिण्डी श्राद्ध व तर्पण

Varanasi, कोरोना काल में मृत आत्माओं की सद्गति के लिए त्रिपिण्डी श्राद्ध व तर्पण

Varanasi, काशी के केदार क्षेत्र के शङ्कराचार्य घाट पर कोरोना काल में काल-कवलित हुए असंख्य जीवात्माओं की सद्गति के लिए आचार्य पं. अवधराम पाण्डेय के आचार्यत्व में त्रिपिण्डी श्राद्ध व तर्पण का आयोजन सम्पन्न हुआ। इस समाचार को सोशल मीडिया व अखबारों में पढकर हरियाणा के सुरेश मानचन्दा काशी आए और शङ्कराचार्य जी महाराज से अनुरोध किया कि 1947 में भारत पाकिस्तान विभाजन के समय जो लगभग 20 लाख लोग मारे गये थे उनका भी अन्तिम संस्कार उस समय नहीं हो पाया था इसलिए उन सबकी सद्गति के लिए भी आज श्राद्ध तर्पण कर दिया जाए।

श्रीमद्भागवत मुक्ति कथा ग्रन्थ का विमोचन
परमाराध्य शङ्कराचार्य जी महाराज ने अपने यू ट्यूब चैनल 1008.guru पर मृतात्माओं की सद्गति के लिए श्रीमद्भागवत मुक्ति कथा सुनाई। जगद्गुरु शङ्कराचार्य जी महाराज की पूर्णाभिषिक्त शिष्या साध्वी पूर्णाम्बा जी व साध्वी शारदाम्बा जी ने गंगारविन्द मिश्र जी, डा लता पाण्डेय जी व डा मंजरी पाण्डेय जी आदि अनेक सहयोगियों के साथ मिलकर महाराज जी की कथा को प्रतिदिन लिपिबद्ध किया और पुस्तक के रूप में शङ्कराचार्य जी को समर्पित किया। शङ्कराचार्य जी महाराज ने इस मुक्ति कथा ग्रन्थ का आज विमोचन किया। शङ्कराचार्य जी महाराज ने आश्चर्यचकित होते हुए कहा कि यह अपने आपमें एक विशिष्ट कीर्तिमान है कि कथा विश्राम के चन्द घण्टों के उपरान्त ही पुस्तक तैयार हो गयी और आठवें दिन पुस्तक का विमोचन भी हो गया। उन्होंने पुस्तक तैयार करने वाले सभी सहयोगियों को आशीर्वाद प्रदान किया।

Varanasi, भक्ति, भुक्ति और मुक्ति के लिए होते हैं भगवदवतार – शङ्कराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद

शारदीय नवरात्र पर होंगे विविध धार्मिक अनुष्ठान
परमाराध्य शङ्कराचार्य जी ने कहा कि शारदीय नवरात्रि पर श्रीविद्यामठ में शतचण्डी महायज्ञ और रूद्राभिषेक का आयोजन किया जाएगा। ४००० मोदकों से गणपति-पूजन, शतचण्डी-महायज्ञ, महारुद्र यज्ञ, ६४-योगिनियों के रूप में ६४ कन्याओं का पूजन, भैरव-पूजन, १०८ सुवासिनी पूजन, ११ रूद्र-दम्पत्ति पूजन कुम्भकोणम् से पधारे श्री प्रवीण जी के आचार्यत्व में सम्पन्न होगा। इसके उपरान्त सवा लाख मोदकों से हवन किया जायेगा। यह अनुष्ठान १५ दिनों का होगा जिसके अन्तर्गत यह सभी आयोजन श्रीविद्यामठ में सम्पन्न किये जायेंगे।

शङ्कराचार्य जी जबलपुर में मनाएंगे शारदीय नवरात्रि उत्सव
शङ्कराचार्य जी महाराज आज अपराह्न 2 बजे जबलपुर के बगलामुखी सिद्धपीठ के लिए प्रस्थान कर गये। वहा वे आगामी नौ दिनों तक पराम्बा भगवती की आराधना सम्पन्न करेंगे। मुक्ति कथा का आयोजन गौरव तिवारी,विभा शर्मा ने किया। लोकार्पण और अन्य कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सर्वश्री:- साध्वी पूर्णाम्बा,साध्वी शारदम्बा, मीडिया प्रभारी संजय पाण्डेय, डॉ गिरीश चन्द्र तिवारी,श्रीभगवान वेदांताचार्य,परमेश्वर दत्त शुक्ल,कमलाकांत त्रिपाठी,राजेन्द्र तिवारी,शैलेन्द्र सिंह योगी,यतीन्द्र चतुर्वेदी,रमेश उपाध्याय,पं सदानंद तिवारी,आनंद उपाध्याय,लता पाण्डेय,मञ्जरी पाण्डेय,माधुरी पाण्डेय,सुनीता श्रीवास्तव,किशन जायसवाल,पीयूष तिवारी,सत्य प्रकाश श्रीवास्तव,रविन्द्र मिश्रा आदि लोग सम्मलित थे।

editor

Related Articles