Logo
  • May 22, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Amit Shah TYEP के तहत जनजातीय समुदाय के युवाओं से मिले, सरकार के कार्यक्रम पर गृह मंत्रालय ने कही ये बात

Amit Shah TYEP के तहत जनजातीय समुदाय के युवाओं से मिले, सरकार के कार्यक्रम पर गृह मंत्रालय ने कही ये बात

Amit Shah गृह मंत्री के तौर पर देश के युवाओं को मुख्यधारा से जोड़ने के प्रयास करने का लगातार दावा कर रहे हैं। इसी कड़ी में केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में जनजातीय युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम (TYEP) के तहत जनजातीय समुदाय के युवाओं के साथ बातचीत की। ट्राइबल यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम (TYEP) के तहत जनजातीय समुदाय के युवाओं को महानगरों का दौरा कराया जाता है।

केंद्रीय गृह मंत्री और सहकारिता मंत्री अमित शाह के कार्यक्रम के बारे में गृह मंत्रालय ने बताया कि TYEP कार्यक्रम के तहत, वामपंथी उग्रवाद से सबसे अधिक प्रभावित आंतरिक क्षेत्रों के आदिवासी समुदाय के युवा पुरुषों और महिलाओं को देश भर के प्रमुख शहरों और महानगरों के दौरे पर ले जाया जाता है।

गृह मंत्रालय के अनुसार कार्यक्रम की सफलता का अंदाजा इसमें भाग लेने वाले युवाओं की बढ़ती संख्या देखकर होता है। बयान में गृह मंत्रालय ने कहा, 2014-15 से 2022-23 तक पिछले नौ वर्षों में कुल 20,700 युवाओं ने TYEP में भाग लिया।

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”en” dir=”ltr”><a href=”https://twitter.com/hashtag/WATCH?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw”>#WATCH</a> | Union Home Minister and Minister of Cooperation Amit Shah interacts with the youths of the Tribal community under the Tribal Youth Exchange Programme (TYEP), in Delhi <a href=”https://t.co/tdhKeVtOr6″>pic.twitter.com/tdhKeVtOr6</a></p>&mdash; ANI (@ANI) <a href=”https://twitter.com/ANI/status/1714612976257503515?ref_src=twsrc%5Etfw”>October 18, 2023</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

सरकार के मुताबिक गृह मंत्रालय की पहल TYEP के तहत 2019-20 से 2022-23 तक पिछले चार वर्षों में 10,200 युवाओं ने भाग लिया है। इस वर्ष TYEP में 5000 युवक-युवतियां भाग ले रहे हैं। पहले, इस कार्यक्रम में हर साल 2,000 प्रतिभागी हिस्सा ले रहे थे, जिसे अगस्त 2019 में बढ़ाकर 4,000 कर दिया गया।

गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा, वामपंथी उग्रवाद से सबसे अधिक प्रभावित आंतरिक क्षेत्रों के युवाओं की जरूरतों को देखते हुए सरकार ने TYEP के तहत भाग लेने वाले लोगों की संख्या 2022 में प्रति वर्ष 5,000 प्रतिभागी कर दिया गया।

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”en” dir=”ltr”>A total of 20,700 youth have participated in the TYEP for the last nine years from 2014-15 to 2022-23, and 10,200 youth participated in the last four years from 2019-20 to 2022-23. This year 5000 young men and women are participating in TYEP. Earlier, 2,000 participants were…</p>&mdash; ANI (@ANI) <a href=”https://twitter.com/ANI/status/1714614299761709557?ref_src=twsrc%5Etfw”>October 18, 2023</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

Related Articles