Logo
  • April 15, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Bihar, दलाई लामा से मिलने वालों की कोरोना जांच जरूरी, 12 मिले थे संक्रमित

Bihar, दलाई लामा से मिलने वालों की कोरोना जांच जरूरी, 12 मिले थे संक्रमित

Bihar, बौद्ध सम्प्रदाय के धार्मिक गुरु दलाई लामा के बोधगया प्रवास के दौरान बड़ी संख्या में देश, विदेश के लोग पहुंच रहे हैं। इस बीच, आने वाले विदेशियों में से 12 के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ गई है। इधर, जिला प्रशासन भी इसे लेकर सजग हो गया है। धार्मिक गुरु के पास बिना कोरोना जांच के जाने पर मनाही कर दी गई है।

गया के जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम ने लोगों को कोरोना से बचाव के लिए विशेष एहतियात बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा गया में आने वाली सभी अंतरराष्ट्रीय और डोमेस्टिक फ्लाइट के यात्रियों की जांच की जा रही है।

Manoj Tiwari in Varanasi, सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा…

जिला प्रशासन की ओर से तिब्बतन मॉनेस्ट्री के सामने रैपिड एंटीजन किट से जांच की व्यवस्था कराई गई है। दलाई लामा ट्रस्ट के आयोजकों को निर्देश दिया गया कि बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा से मिलने वाले लोगों की मिलने से पहले अवश्य सैंपल जांच कराएं।

जिलाधिकारी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बौद्ध धर्मगुरु के कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी श्रद्धालुओं के साथ आम लोग मास्क पहने और कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करें।

इधर, गया हवाई अड्डे आने वाले यात्रियों के कोरोना जांच की प्रक्रिया सख्त कर दी गयी है। यहां आने सभी यात्रियों की जांच की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मी हवाई अड्डे पर जांच कैंप लगा कर हर यात्री की जांच कर रहे हैं और उनका विस्तृत ब्यौरा भी इकट्ठा कर रहे हैं।

Nasal Vaccine Price, भारत बायोटेक की नोजल वैक्सीन की कीमत, जानें

उल्लेखनीय है कि फिलहाल गया पहुंचने वाले यात्रियों में म्यांमार, थाइलैंड व भूटान से अधिक हैं। गौरतलब है कि गया आने वाले विदेशियों में से अब तक 12 लोगों को कोरोना संक्रमित पाया गया है।

बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा का स्थानीय कालचक्र मैदान में 29 दिसंबर से तीन दिवसीय टीचिंग (प्रवचन) कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में देश और विदेश से धर्मावलंबियों के पहुंचने की संभावना है। इसे लेकर लोगों का बोध गया पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है।

editor

Related Articles