Logo
  • May 23, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Congress ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी का नाम बदलने की निंदा

Congress ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी का नाम बदलने की निंदा

Congress, कांग्रेस ने नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी का नाम बदलकर प्राइम मिनिस्टर्स म्यूजियम एंड सोसाइटी करने के केंद्र के फैसले की आलोचना की। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्विटर पर कहा, संकीर्णता और प्रतिशोध का दूसरा नाम मोदी है।

59 वर्षों से अधिक समय से नेहरू स्मारक संग्रहालय और पुस्तकालय (एनएमएमएल) एक वैश्विक बौद्धिक ऐतिहासिक स्थल और पुस्तकों एवं अभिलेखों का घर रहा है। अब से इसे प्रधानमंत्री म्यूजियम और सोसायटी कहा जाएगा।

पीएम मोदी भारतीय राष्ट्र के शिल्पकार के नाम और विरासत को विकृत करने, नीचा दिखाने और नष्ट करने के लिए क्या नहीं करेंगे। अपनी असुरक्षाओं के बोझ तले दबा एक छोटे कद का व्यक्ति स्वघोषित विश्वगुरु बना फिर रहा है।

रमेश की यह टिप्पणी गुरुवार को एनएमएमएल सोसायटी की एक विशेष बैठक में लिए गए फैसले के एक दिन बाद आई है। बैठक की अध्यक्षता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की, जो सोसायटी के उपाध्यक्ष हैं।

UPI एसडीके मर्चेंट ऐप्स के लिए भारत का सबसे तेज यूपीआई भुगतान लेकर आया पेटीएम

सोसायटी के अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, और इसके 29 सदस्यों में केंद्रीय मंत्री अमित शाह, निर्मला सीतारमण, धर्मेंद्र प्रधान, जी किशन रेड्डी, अनुराग ठाकुर शामिल हैं।

संग्रहालय का उद्घाटन पिछले साल अप्रैल में तीन मूर्ति परिसर में किया गया था। यह 1948 से 1964 में उनकी मृत्यु तक भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का आधिकारिक निवास था।

editor

Related Articles