Logo
  • July 23, 2024
  • Last Update June 22, 2024 7:38 am
  • Noida

Dengue मरीज पैनिक से बचें, 10,000 से ज्यादा है प्लेटलेट्स हो तो घबराने और चिंता की जरूरत नहीं

Dengue मरीज पैनिक से बचें, 10,000 से ज्यादा है प्लेटलेट्स हो तो घबराने और चिंता की जरूरत नहीं

Dengue बुखार होने पर प्लेटलेट्स का स्तर तेजी से गिरता है। डेंगू के मरीजों में प्लेटलेट्स गिरना तो आम है, लेकिन केवल प्लेटलेट काउंट का कम होना ही डेंगू का लक्षण नहीं है। ऐसे में डेंगू पीड़ितों को ये मानकर घबराना नहीं चाहिए कि उनका प्लेटलेट्स तेजी से गिर रहा है। 10 हजार से अधिक प्लेटलेट काउंट हो तो पैनिक से बचना चाहिए। जांच कराकर इलाज करवाने से मरीज स्वस्थ हो जाता है।

स्वास्थ्य विभाग डेंगू से बचाव को लेकर लोगों के बीच जागरूकता फैला रहा है चीफ मेडिकल ऑफिसर (CMO) के अनुसार अगर प्लेटलेट काउंट 10000 से कम ना हो तो ऐसे मरीजों को तत्काल प्लेटलेट चढ़ाने की जरूरत नहीं होती। ऐसे मरीजों की रिकवरी दवा से भी हो जाती है।

सीएमओ ने कहा कि प्लेटलेट कम हो तो भी लोग घबरा जाते हैं। इसे डेंगू मानने लगते हैं। टाइफाइड, वायरल फीवर समेत अन्य कई बीमारियों में भी प्लेटलेट तेजी से घटता है, ऐसे में डेंगू की पुष्टि और सही इलाज जरूरी है। बगैर एलाइजा जांच किसी भी मरीज को डेंगू पीड़ित घोषित नहीं किया जाना चाहिए।

जिला मलेरिया अधिकारी शरद चंद्र पांडे ने बताया कि जुलाई में अब तक डेंगू के 9195 संदिग्ध मरीजों के सैंपल लिए गए थे। इनमें से केवल 230 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई। बाकी मरीजों में प्लेटलेट्स काउंट तो कम मिला लेकिन उन्हें डेंगू बुखार नहीं था।

Related Articles