Logo
  • May 22, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

काशी में धूमधाम से मनाया गया शंकराचार्य सदानंद जी महाराज का 65वां अवतरण दिवस

काशी में धूमधाम से मनाया गया शंकराचार्य सदानंद जी महाराज का 65वां अवतरण दिवस

वाराणसी : ज्यपाद अनंतश्रीविभूषित पश्चिमाम्नाय द्वारकाशारदा पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी सदानंद सरस्वती जी महाराज का 65वां अवतरण दिवस आज भाद्रपद द्वितिया तदानुसार 1 सितम्बर को काशी के शंकराचार्य घाट स्थित श्रीविद्यामठ में धूमधाम से मनाया गया।

उक्त जानकारी देते हुए परमाराध्य परमधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती “1008” जी महाराज के मीडिया प्रभारी संजय पाण्डेय ने बताया कि पूज्यपाद ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती जी महाराज के आदेशानुसार आज श्रीविद्यामठ में सुबह 9 बजे से पूज्यपाद द्वारकाशारदा पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी सदानंद सरस्वती जी महाराज अवतरण दिवस धूमधाम से मनाया गया।जिसके अंतर्गत सर्वप्रथम वैदिक आचार्यों के सानिध्य में वैदिक छात्रों ने चारों वेदों के विभिन्न शाखाओं का पारायण किया।जिसके अनन्तर द्वारकाशारदा पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी सदानंद सरस्वती जी महाराज के दीर्घायु होने की मंगलकामना को लेकर वैदिक आचार्य पं मणि झा,पं अभिषेक दुबे,पं भूपेंद्र मिश्रा ने सविधि रुद्राभिषेक सम्पन्न कराया।इसके उपरांत वैदिक आचार्य पं अनंत किशोर शर्मा,पं दीपेश दुबे,पं बालेंदु नाथ मिश्र,पं ओम प्रकाश पाण्डेय ने शंकराचार्य सदानंद जी महाराज के चरण पादुका का पूजन सम्पन्न करवाया।यजमान की भूमिका का निर्वहन छत्तीसगढ़ कवर्धा से पधारे पं रामकृपेश्वर उपाध्याय ने किया।

ज्ञातव्य है कि ब्रम्हलीन ज्योतिष एवं द्वारकाशारदा द्वयपीठाधीश्वर पूज्यपाद जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी महाराज के द्वारकाशारदा पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी सदानंद सरस्वती जी महाराज व ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती जी महाराज उत्तराधिकारी शिष्य व आपस मे गुरु भाई हैं।

मातृशक्ति ने गाया सोहर
पूज्यपाद शंकराचार्य सदानंद सरस्वती जी महाराज के पावन अवतरण दिवस के अवसर पर सावित्री पाण्डेय, लता,पाण्डेय,मंजरी पाण्डेय,माधुरी पाण्डेय,अर्चना राय भट्ट,रीता झा,रेनू यादव,सुनीता श्रीवास्तव आदि मातृशक्ति के नेतृत्व में सोहर गया गया।

editor

Related Articles