Logo
  • April 19, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

UP GST Raid Kannauj में एक बार फिर ! इत्र कारोबारियों के बीच मचा हड़कंप

UP GST Raid Kannauj में एक बार फिर ! इत्र कारोबारियों के बीच मचा हड़कंप

UP GST Raid Kannauj में इत्र व्यापारियों के ठिकानों पर एक बार फिर पहुंची। कन्नौज में इत्र व्यापारियों के यहां छापेमारी करने पहुंचीं जीएसटी की दो टीमों ने  दो इत्र कारोबारियों के यहां छापा मारा।  छापेमारी के दौरान टीम ने कुछ जरूरी प्रपत्र जब्त किए है। जिसके बाद वह उन प्रपत्रों को अपने साथ लेकर चले गये। टीम का कहना है कि जांच के दौरान इन प्रपत्रों से उनको आगे की जांच कर अग्रिम कार्यवाही की जायेगी। उनका कहना है कि कुछ लोग बिना पंजीकरण के ही कारोबार कर रहे हैं और कुछ लोग अपनी घोषित टर्नओवर कम दिखा रहे हैं। ऐसे लोगों के यहां छापेमारी की जा रही है।

आपको बताते चलें कि सोमवार को कन्नौज शहर के दो इत्र कारोबारियों के यहां राज्य कर जीएसटी की टीम ने छापेमारी की जिससे एक बार फिर इत्र कारोबार से जुडे व्यापारियों में हड़कंप मच गया है। करीब एक वर्ष पहले ही डीजीजीआई की टीम ने इत्र कारोबार से जुडे़ छिपटटी मोहल्ला निवासी पीयूष जैन के यहां छापेमारी की थी। जिसमें 196 करोड़ कैश और 23 किलो सोना मिला था। इसके बाद कुछ और कारोबारियों के यहां टीम ने छापेमारी की गई थी, बाद में यह छापेमारी बंद कर दी गई थी लेकिन सोमवार को फिर से अचानक एक साथ कई जिलों में जीएसटी की छापेमारी शुरू की गई है।

UP GST Raid Kannauj

सोमवार को जीएसटी ने शहर के दो स्थानों पर छापेमारी की‚ जिसमें इत्र नगरी कन्नौज में शहर के मोहल्ला शेखाना में इत्र कारोबारी सारिक सिददीकी और बिलाल सिददीकी की कोठी पर जीएसटी की टीम ने छापा मारकर छानबीन की तो वहीं शहर के अहमदी टोला स्थित फुरकान सेठ के घर व इत्र कारखाने में भी छापेमारी की। दोनों जगह से टीम ने पूछताछ करते हुए प्रपत्रों की जांच की है। इस दौरान कुछ जरूरी प्रपत्रों को वह गुप्त रूप से अपने साथ भी ले करके चले गये।

इस मामले को लेकर राज्य कर जीएसटी कन्नौज के उपायुक्त राम नारायण ने बताया कि राज्य कर विभाग जीएसटी को एक सूची के जरिए सूचना मिली थी कि कुछ लोग अपंजीकृत तरीके से कारोबार कर रहे हैं और कुछ लोग अपना घोषित टर्नओवर कम दिखा रहे हैं। उसकी जांच करने के निर्देश मिले थे, जिसके तहत छापामारी की गई है। फिलहाल अभी स्टाक चेक किया और उसके प्रपत्र भी चेक किए गए हैं। उन प्रपत्रों की जांच की जाएगी जिसके बाद ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Related Articles