Logo
  • April 15, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Varanasi Viral Fever की आहट से सहमा, 20 नवंबर तक सामान्य सर्जरी टालने का निर्देश

Varanasi Viral Fever की आहट से सहमा, 20 नवंबर तक सामान्य सर्जरी टालने का निर्देश

Varanasi Viral Fever की आहट से सहम गया है। मण्डल आयुक्त ने जिले में वायरल फीवर के प्रकोप को देखते हुए रूटीन भर्ती को रोकते हुए सभी वार्ड को वायरल बुखार के मरीजों के लिए प्रयोग में लाने का निर्देश दिया है। अस्पतालों को साफ किया गया है कि कोई भी वायरल फीवर का मरीज अस्पताल से वापस नहीं लौटना चाहिए।

48 घंटे से बुखार न आने पर डिस्चार्ज करें

टेस्ट की संख्या बढ़ाने का भी निर्देश दिया गया है, जिससे जल्द से जल्द वायरल फीवर पर काबू पाया जा सके। चीफ मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) ने कहा, मरीज का प्लेटलेट्स काउंट अगर 50000 के ऊपर चला गया और बुखार 48 घंटे से नहीं है तो मरीज को डिस्चार्ज करके वार्ड खाली कराने का निर्देश भी दिया गया है, ताकि और जरूरतमंद लोगों का इलाज किया जा सके।

CHC और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को निर्देश

सीएमओ ने मरीज को ओपीडी में ही ओरल ट्रीटमेंट दिए जाने कि वकालत की, जिससे आगे की परेशानी से बचा जा सके। वायरल बुखार के लिए जो लाइन ऑफ़ ट्रीटमेंट है वो बड़े अस्पतालों के अलावा जिले के तमाम कम्युनिटी हेल्थ सेंटर (सीएचसी) / प्राइमरी हेल्थ सेंटर (पीएचसी) पर भी दिया जाए।

varanasi viral fever

बेहतर ब्लड टेस्टिंग पर जोर

मण्डलायुक्त / जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सभी हेल्थ वेलनेस सेंटर पर मरीजों की जाँच व भर्ती करने का सख्त निर्देश दिया। कितने टेस्ट व कितने मरीज भर्ती हैं इसका रोज सुबह में आंकड़ा उपलब्ध कराने व मॉनिटरिंग करने का निर्देश भी दिया। उन्होंने साफ किया कि सीएचसी का पूरा उपयोग होना चाहिए। एसएसपीजी सीएमएस को भी वायरल बुखार के इलाज के बारे में उचित करवाई करने का कहा गया। ब्लड टेस्टिंग पूरी तरीके से होनी चाहिए।

20 नवंबर तक टालें सामान्य सर्जरी

उन्होंने कहा, बेड की कमी किसी स्तर पर नहीं होनी चाहिए दिन में मरीज भर्ती करके ओरल थेरेपी दी जाए। सभी सीएचसी के लोगों का ग्रुप बनाया जाये व प्रतिदिन कैमरे की रिकॉर्डिंग देखा जाये की कौन काम कर रहा और जो संविदा कर्मी काम नहीं कर रहे उनको काम से हटाकर दूसरे कर्मियों को रखा जाए। जो सर्जरी बहुत जरूरी नहीं है उनको 20 नवम्बर के बाद की तारीख देकर प्लान किया जाए। अभी 20 नवम्बर तक पूरा फोकस डेंगू और वायरल बुखार पर किया जाये।

varanasi viral fever

सफाई पर ध्यान देने का निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आगामी 6 नवम्बर के सम्भावित दौरे के दौरान सीएचसी व अस्पतालों का दौरा कर सकते हैं। अस्पतालों में पूरी साफ सफाई की उचित व्यवस्था और साफ सफाई में कोई कोताही नहीं बरते जाने का आह्वान किया गया है। शिवपुर सीएचसी के प्रभारी को लोगों के भर्ती में कोई कोताही नहीं करने का निर्देश दिया गया। जहाँ से डेंगू के केस ज्यादा आ रहे वहां पर मच्छर भगाने के लिए फॉगिंग और साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था बीडीओ को करने का निर्देश दिया गया। नगर में नगर स्वास्थ्य अधिकारी को सफाई पर ध्यान देने का निर्देश दिया गया।

उचित मॉनिटरिंग की अपील

लोग जहाँ से मरीज ज्यादा आ रहे हैं वहां दौड़ा करें व छिड़काव पर विशेष ध्यान दें। जनप्रतिनिधियों से फॉगिंग की उचित मॉनिटरिंग की अपील की गई है। मलेरिया अधिकारी से स्वच्छ पानी पर निर्देश देने को कहा गया और मच्छरों से बचाव के तौर-तरीकों पर जागरूकता के लिए प्रचार-प्रसार बढ़ाने को भी कहा गया। अधिकारी ने कहा, पीएचसी के प्रतिदिन के क्रियाकलाप की मॉनिटरिंग होनी चाहिए। अधिक जरूरत होने पर घर पर जा कर विशेष इलाज दिए जाने की बात भी कही गई।

varanasi viral fever

CM योगी कर रहे मॉनिटरिंग

कैंप लगाकर ओआरएस वितरण, ब्लड टेस्टिंग बढ़ाने की बात भी कही गई। टेलीमेडिसिन पर ध्यान देने को कहा गया। सीएचसी पर उचित काम हो ताकि शहर के अस्पताल पर दवाब न बढ़े। संचारी रोग अभियान की मॉनिटरिंग मुख्यमंत्री के तरफ से हो रही है, ऐसे में किसी प्रकार की कोई कोताही बर्दास्त नहीं की जाएगी। अगली बैठक 5 नवम्बर की शाम को होगी तब तक बीमारी के प्रकोप को हर हाल में नियंत्रित करने पर जोर दिया जा रहा है।

Related Articles