Logo
  • May 21, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Pankaj Tripathi पिता बनारस तिवारी का अस्थि विसर्जन करने काशी पहुंचे, वेदनिधि आश्रम में स्वामी ओमा से मुलाकात

Pankaj Tripathi पिता बनारस तिवारी का अस्थि विसर्जन करने काशी पहुंचे, वेदनिधि आश्रम में स्वामी ओमा से मुलाकात

अभिनेता Pankaj Tripathi किसी परिचय के मोहताज नहीं। बिहार के गोपालगंज में जन्मे पंकज के पिता पंडित बनारस त्रिपाठी (तिवारी) अब इस दुनिया में नही हैं। नेशनल फिल्म अवॉर्ड (मिमी फिल्म के लिए) जीतने की खबर के कारण सुर्खियों में आए पंकज लाइमलाइट से दूर रहते हैं। हालांकि, पिता के देह त्याग के बाद बनारस में अस्थि विसर्जन करने पहुंचे पंकज को वाराणसी में मां गंगा में पिता की अस्थियों को विसर्जित करते देखा गया।

काशी में अस्सी घाट पर अपने 99 वर्षीय पिता के अस्थि विसर्जन के बाद राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर) से सम्मानित अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने डुमराव बाग जाकर वेदनिधि आश्रम में अध्यात्ममूर्ति स्वामी ओमा द अक से मुलाकात की। पंकज त्रिपाठी मीडिया से कोई बात नहीं की और उन्होंने हाथ जोड़कर सबका अभिवादन करते हुए विदाई ली।

स्वामी ओमा से मिलने पहुंचे पंकज त्रिपाठी ने ब्राह्मण बटुकों से संस्कृत श्लोक सुना। 46 वर्षीय अभिनेता पंकज के साथ मौजूद रहे लोगों ने बताया कि वेदनिधि आश्रम में उन्होंने भारतीय दर्शन में मृत्यु संबंधित विषय पर चर्चा के साथ-साथ गीता और उपनिषदों में जीवन के संदर्भ कही गई बातों पर बेहद अर्थपूर्ण और मर्मस्पर्शी चर्चा की।

पंकज त्रिपाठी के साथ चर्चा में मुख्य रूप से काशी के विद्वान रतिशंकर त्रिपाठी और स्वामी ओमा भी शरीक हुए। पंकज के बनारस में रहने के दौरान उनके साथ मौजूद लोगों में वेदनिधि आश्रम के अविनाश, हितेश, साकिब भारत और विकास का नाम प्रमुख है।

बता दें कि अभिनेता पंकज त्रिपाठी को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार दिए जाने की घोषणा 25 अगस्त को हुई। पिता के निधन से शोक संतप्त पंकज बेहद भावुक भी हैं। उन्होंने अवॉर्ड अपने पिता को डेडिकेट किया है। पंकज बताते हैं कि भले ही उनके पिता फिल्मों की चकाकौंध से दूर रहे, उनकी फिल्में भी नहीं देखीं, लेकिन उन्हें नेशनल फिल्म अवॉर्ड की गरिमा और महत्व का बखूबी अंदाजा था।

पंकज की नई फिल्म ओ माय गॉड २ (OMG-2) पूरे देश में धूम मचा रही है। फिल्म के काफी अंशों की शूटिंग बनारस में भी हुई है। मिमी से पहले पंकज को स्पेशल मेंशन कैटेगरी में नेशनल फिल्म अवॉर्ड न्यूटन फिल्म के लिए साल 2017 में मिला था।

administrator

Related Articles