Logo
  • May 23, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

राष्ट्रीय RPF शहीद स्मारक वीर शहीदों का गौरव और सम्मान- आरपीएफ महानिदेशक

राष्ट्रीय RPF शहीद स्मारक वीर शहीदों का गौरव और सम्मान- आरपीएफ महानिदेशक

लखनऊ : स्मारक आरपीएफ अधिकारियों की अटल सेवा और समर्पण की निरंतर याददाश्त के रूप में कार्य करता रहेगा l उनके साहस और निःस्वार्थ सेवा भाव सभी रेलवे सुरक्षा बल के सदस्यों को सर्वोच्च सेवा और समर्पण के मानकों को पालन करने के लिए सदैव प्रेरित करेंगे l

रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के महानिदेशक संजय चंदर ने जगजीवन राम आरपीएफ अकादमी में राष्ट्रीय आरपीएफ शहीद स्मारक और राष्ट्रीय रेलवे सुरक्षा संग्रहालय के उद्घाटन अवसर पर कहाl पुणे के केंद्रीय बख्तरबंद लड़ाकू वाहन डिपो से प्राप्त वॉर ट्रॉफी T-55 टैंक, जो अकादमी कैंपस में स्थापित किया गया है, का अनावरण भी महानिदेशक ने किया जो अकादमी को शक्ति और शौर्य की प्रतीकता से जोड़ता है l

रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक संजय चंदर ने कहा कि
राष्ट्रीय आरपीएफ शहीद स्मारक वीर शहीदों का गौरवपूर्ण सम्मान है जिन्होंने अपने कर्तव्य के माध्यम से अंतिम बलिदान दिया l इसका क्षेत्रफल 4800 वर्ग फीट है, स्मारक में एक 13 फीट ऊँचा शहीद स्मारक संरचित किया गया है, जो 16 फीट ऊँची दीवार पर स्थित है l

1970 से आज तक के 1040 आरपीएफ शहीदों के नाम चार- 10×4 फीट इस्पात की प्लेटों पर लिखे गए हैं, जो उनकी विरासत को आने वाली पीढ़ियों के लिए सहेज कर रखेंगे. महानिदेशक संजय चंदर ने बताया कि राष्ट्रीय आरपीएफ शहीद स्मारक एवं राष्ट्रीय रेलवे सुरक्षा संग्रहालय बल की सभी पुरानी कड़ियों को जोड़ने, भूली हुई खाएं समेटने और बल के अद्भुत विकास को दस्तावेज़ीकरण करने की ओर पहला कदम है l ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के दृष्टिकोण में उन्होंने बल की सेवा में राष्ट्र के एकता ‘और अखण्डता के साथ कटिबद्धता का संकल्प स्पष्ट किया l

भीषण गर्मी में किसी भी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को दिया निर्देश

.उन्होंने सभी अधिकारियों के प्रति आभार व्यक्त किया जिन्होंने रेल एवं रेल यात्रियों की सुरक्षा के लिए अपने जीवन को न्यौछावर कर दिया l इस अवसर पर, राष्ट्रीय रेलवे सुरक्षा संग्रहालय (एनएमआरएस) का उद्घाटन भी हुआ, जो रेलवे सुरक्षा बल की समृद्ध विरासत और धरोहर को समाहित किए हुए है l

संग्रहालय का मोटो, “ज्ञानवर्धनाय च संरक्षणाय ” (ज्ञान की समृद्धि और धरोहर का संरक्षण) रेलवे सुरक्षा बल के ज्ञान के लिए निरंतर प्रयास और इसके गरिमामय इतिहास के संरक्षण से संबंधित है l

संग्रहालय कुल 9000 वर्ग फीट पर फैला है, जिसमें 37 विषयगत प्रदर्शन पैनल, 11 प्रदर्शनी कैबिनेट, 320 वर्ग फीट के इनफोग्राफिक इतिहास, 87 वस्त्र, 500 पृष्ठों वाली भारतीय राष्ट्रीय अभिलेख, बीते हुए युद्ध काल के 36 शस्त्र, सुरक्षा से संबंधित 150 रेलवे सामग्री भारतीय रेलवे सुरक्षा बल के विभिन्न रैंकों के 15 मैन्युकिंस और कई अन्य महत्वपूर्ण कलाकृतियों का प्रदर्शन है। महानिदेशक ने आरपीएफ के विशेष बैंड को बल को समर्पित किया और बल के लिए नए स्पोर्ट्स ड्रेस का अनावरण किया l

editor

Related Articles