Logo
  • April 19, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

Lucknow में हिन्दू लड़की को चौथी मंजिल से फेंका, धर्म परिवर्तन का बना रहा था दबाव

Lucknow में हिन्दू लड़की को चौथी मंजिल से फेंका, धर्म परिवर्तन का बना रहा था दबाव

Lucknow में दुबग्गा की डूडा कॉलोनी में धर्म परिवर्तन कर शादी से मना करने से नाराज सुफियान ने 18 वर्षीय युवती को कॉलोनी की चौथी मंजिल से फेंक कर हत्या कर दी। छत से युवती को फेंकने की घटना से हड़कम्प मच गया। युवती की मां पड़ोसियों से मदद से बेटी को लेकर अस्पताल भी गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत करार दिया। युवती की मां की तहरीर पर सुफियान के खिलाफ हत्या और धर्म परिवर्तन की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

घर पर पहुंच कर धमकाया, फिर छत से फेंका
डूडा कॉलोनी निवासी 18 वर्षीय युवती को मोहल्ले में रहने वाला सुफियान काफी वक्त से परेशान कर रहा था। एकतरफा प्यार में आरोपी ने युवती पर शादी, धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया था। युवती की मां के अनुसार सुफियान की हरकतों की शिकायत पिता से की जा चुकी थी। मगर उसका कोई असर नहीं हुआ। बेटी का घर से निकलना मुश्किल हो गया था।

मंगलवार को मां ने मदद के लिए भाई को बुलाया था। वे आरोपी के परिवार से बात करने जा रहे थे। उसी दौरान सुफियान घर के बाहर आ कर गाली गलौज करने लगा। मना करने पर आरोपी ने युवती के मामा की बाइक जलाने की धमकी दी। मां और मामा को अपशब्द बोल रहे सिरफिरे की शिकायत करने के लिए किशोरी उसके घर जाने लगी। पीछा करते हुए सुफियान भी पहुंच गया। मां के मुताबिक बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर पहुंचते ही सुफियान ने धक्का देकर बेटी की हत्या कर दी।

भड़की भीड़ ने घर पर किया पथराव
डूडा कॉलोनी में मंगलवार शाम को आरोपी सुफियान ने युवती को छत से फेंक कर मारने के बाद मौके से फरार हो गया। इस बीच युवती को अस्पताल में मृत करार दिए जाने के बाद वारदात की सूचना पर स्थानीय भड़क उठे। बड़ी संख्या में एकजुट होकर लोग आरोपी के घर पहुंच गए और आरोपी को बुलाने लगे। इस बीच घर वालों ने उसकी गैरमौजूदगी की बात कही तो भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। इस बीच मौके पर पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन देकर लोगों को शांत कराया।

Shraddha murder case: पहले से शक था, बेटी भी बदल गई थी; ‘कसाई’ आफताब पर श्रद्धा के पिता के खुलासे

परिवार की शह पर बनाता था दबाव
बड़ी बहन के मुताबिक सुफियान काफी वक्त से बहन को परेशान कर रहा था। शिकायत किए जाने पर आरोपी के परिवार वाले भी उसे समझाने के बजाए उकसाते थे। जिसके चलते सुफियान की हिम्मत बढ़ गई थी। आरोपी की हरकतों से आजिज होकर युवती को ननिहाल भेज दिया गया था। करीब एक साल पूर्व ही वह वापस आई थी। जिसके बाद सुफियान फिर से अपनी हरकतों पर उतर आया।

editor
I am a journalist. having experiance of more than 5 years.

Related Articles