Logo
  • April 15, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

ये हैं दुनिया की दस सबसे बेहतरीन पार्लियामेंट

ये हैं दुनिया की दस सबसे बेहतरीन पार्लियामेंट

दुनिया में कई बेहद खूबसूरत और चर्चित संसद भवन मौजूद हैं। इनमें भारत ब्रिटेन रोमानिया श्रीलंका और बांग्लादेश के संसद भवन का नाम शामिल है। इन भवनों में से किसी को यूनेस्को का हिस्सा बना दिया गया है तो किसी को बनाने में कई साल तक लग गए हैं।

पैलेस ऑफ वेस्टमिंस्टर
ब्रिटेन स्थित पैलेस ऑफ वेस्टमिंस्टर दुनियाभर में सभी सांसदों का मूल माना जाता है। इस पार्लियामेंट हाउस को चार्ल्स बेरी और ऑगस्टस वेल्बी पुगिन ने डिजाइन किया था। दुनियाभर के कई सैलानियों को इस भवन की खूबसूरती ने आकर्षित किया है।

प्लेस ऑफ पार्लियामेंट
रोमानिया के संसद भवन को दुनिया की चौथी सबसे बड़ी इमारत माना जाता है। इसे 1984 से 1997 तक के 13 सालों के लंबे इंतजार के बाद बनाया गया था। इस इमारत के डिजाइन की कल्पना तत्कालीन देश के तानाशाह निकोला सीयूसेउ ने अपने शासन के दौरान की थी। इस इमारत को बनाने में 700 वास्तुकारों और 20,000 श्रमिकों ने दिन-रात काफी मेहनत की थी। यह 12 मंजिला संसद भवन 84 मीटर की दूरी पर बना हुआ है, जिसमें एक हजार से भी अधिक कमरे बने हुए हैं।

बुडापेस्ट
दुनिया की सबसे खूबसूरत इमारतों में शुमार बुडापेस्ट का संसद भवन यूरोप के सबसे पुराने विधायी भवनों में से एक है। इसका निर्माण 1885 में शुरू हुआ और 1902 तक इसकी संरचना पूरी हो गई थी। हंगरी की संसद, दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी संसद भवन है, जो 268 मीटर लंबी, 123 मीटर चौड़ी और 96 मीटर ऊंची है। इसमें 691 कमरे और 10 आंगन हैं और इसे नव-गॉथिक शैली में डिजाइन किया गया है। संसद भवन दो विश्व युद्धों और कई विद्रोहों के बाद भी मजबूती से खड़ा रहा है।

Parliamant Building : विशेष पूजा, हवन के साथ होगी शुरुआत, पीएम मोदी के भाषण से होगा समापन

स्कॉटलैंड का संसद भवन
स्कॉटलैंड का संसद भवन बेहद खूबसूरत है। इस भवन में कई इमारतें हैं, जो एक-दूसरे से बिल्कुल अलग है। इस पार्लियामेंट का नक्शा एक आर्किटेक एनरिक मिरालस ने बनाया था। हालांकि, नक्शा बनाने के दौरान ही उनकी मौत हो गई थी, जिस कारण इस भवन को बिना किसी बदलाव किए बिल्कुल उस नक्शे के जैसा बनाकर खड़ा कर दिया गया।

रैहस्टाग
जर्मनी का संसद भवन ‘रैहस्टाग’ का भवन भी काफी खूबसूरत है। जर्मनी की राजधानी बर्लिन में स्थित इस भवन का निर्माण साल 1884 में शुरू हुआ था और यह 1894 में बनकर तैयार हो गया था। हालांकि, हिटलर के दौर से बाद इस भवन में काफी बदलाव किए गए थे। अंग्रेज वास्तुविद नॉर्मन फॉस्टर ने 90 के दशक में इसमें कई बदलाव किए थे। इस संसद भवन की खूबसूरती देखने के लिए हर साल लाखों पर्यटक बर्लिन जाते हैं।

editor
I am a journalist. having experiance of more than 5 years.

Related Articles