Logo
  • May 21, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

मध्य प्रदेश में अखिलेश बोले- इस बार जीतेंगे ज्यादा सीटें, INDIA गठबंधन पर क्या संकेत

मध्य प्रदेश में अखिलेश बोले- इस बार जीतेंगे ज्यादा सीटें, INDIA गठबंधन पर क्या संकेत

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव बुधवार को चुनावी साल में मध्य प्रदेश के रीवा पहुंचे तो सूबे में सियासी अटकलों का बाजार गर्म हो गया। दरअसल, उन्होंने जो बातें कही उनसे INDIA गठबंधन को अमल में लाने की तमाम कवायदों पर पानी फिरने के संकेत दे दिए हैं। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी इस बार ज्यादा सीटें जीतने जा रही है। उनका कहना था कि मध्य प्रदेश में सपा की एंट्री कोई नई नहीं है। सूबे में सपा पिछले कई सालों से चुनाव लड़ रही है। सूबे को सपा की जरूरत है।

अखिलेश यादव ने कहा कि सपा पिछले कई सालों से मध्य प्रदेश में चुनाव लड़ रही है। एक समय था जब नेता जी ने मध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी को चुनाव मैदान में उतारा था। उस समय बड़ी संख्या में समाजवादी पार्टी के विधायक जीते थे। पिछली बार समाजवादी पार्टी का एक विधायक विजयी हुआ था। कई सीटों पर सपा के नेता अच्छी तरह लड़े। मध्य प्रदेश में समाजवादियों ने काम किया है। मध्य प्रदेश में समाजवादी विचारधारा की जरूरत है। यहां बड़े पैमाने पर बेरोजगारी, महंगाई और अन्याय बढ़ा है। हमें उम्मीद है कि इस बार सपा अधिक सीटें जीतेगी।

रीवा में एक रैली को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के प्रमुख ने कहा- हां, मैं स्वीकार करता हूं कि INDIA गठबंधन है, लेकिन गठबंधन के भीतर समाजवादी पार्टी है, जिसकी अपनी लड़ाई है। यदि सरकारी स्कूल बंद हो जाएंगे तो गरीबों के बच्चों का क्या होगा। जब पढ़ाई लिखाई नहीं होगी तो इनका कोई भविष्य नहीं होगा। इसलिए अपने बच्चों के भविष्य को सोच कर उस सरकार को हटाने का काम करें जिसने स्कूलों को बंद कर दिया हो।

द्वितीय एशियाई खेलों में अमित इन्सां करेंगे भारतीय वॉलीबॉल टीम का नेतृत्व

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने रीवा में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक भी की और सूबे में सपा के चुनाव अभियान की शुरुआत की। अखिलेश दो दिवसीय दौरे पर मध्य प्रदेश पहुंचे हैं। उल्लेखनीय है कि समाजवादी पार्टी पहले ही मध्य प्रदेश में छह सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है। पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अखिलेश यादव के दौरे का मकसद सूबे में संगठन को मजबूत करना है। समाजवादी पार्टी ने मंगलवार को कहा था कि चुनावों की घोषणा से पहले सपा पर संगठनात्मक स्थिति को मजबूत करने का दबाव है।

editor
I am a journalist. having experiance of more than 5 years.

Related Articles