Logo
  • July 13, 2024
  • Last Update June 22, 2024 7:38 am
  • Noida

‘Bharat Jodo Yatra’ के डेढ़ महीने में काफूर हुई तेलंगाना कांग्रेस की एकता, 13 ने छोड़ी पार्टी

‘Bharat Jodo Yatra’ के डेढ़ महीने में काफूर हुई तेलंगाना कांग्रेस की एकता, 13 ने छोड़ी पार्टी

Bharat Jodo Yatra : दक्षिण भारतीय राज्य तेलंगाना में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं और फिर से सत्ता में आने का ख्वाब देख रही कांग्रेस पार्टी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। रविवार को कांग्रेस पार्टी में अंतर्कलह तब खुलकर सामने आ गई जब पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बयानबाजी से नाराज होकर पीसीसी के 13 सदस्यों ने सामूहिक इस्तीफा दे दिया। तेलंगाना में अंर्तकलह पार्टी के लिए इसलिए भी चिंता का कारण है क्योंकि मुश्किल से डेढ़ महीना पहले राहुल गांधी ने हैदराबाद में भारत जोड़ो यात्रा निकाली थी। इस यात्रा में वरिष्ठ नेताओं ने उपस्थिति दिखाकर एकता का संदेश दिया था लेकिन, यह संदेश कुछ ही दिनों में काफूर हो गया। उधर, पीसीसी चीफ रेवंत रेड्डी इस बारे में स्टैंड लेने के बजाय हाईकमान के भरोसे बैठे हैं।

दो नवंबर को राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा हैदराबाद के चार मीनार पहुंची थी। यहां राहुल गांधी के साथ खड़े होकर प्रदेश इकाई के वरिष्ठ नेताओं ने एकता का संदेश दिया था। मुश्किल से डेढ़ महीने का वक्त बीता है और पीसीसी के 13 वरिष्ठ सदस्यों ने बगावत दिखाकर पार्टी को अलविदा कह दिया। दरअसल, तेलंगाना कांग्रेस में अंदरूनी लड़ाई कोई नई बात नहीं है। पीसीसी चीफ रेवंत रेड्डी के खिलाफ पहले से पार्टी के कई नेता विरोध के स्वर उठा चुके हैं। अब वरिष्ठ नेताओं की बयानबाजी ने गुस्से के घड़े को फोड़ दिया।

शनिवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता और आंध्रप्रदेश के पूर्व डिप्टी सीएम दामोदर राज नरसिंह ने यह कहकर नया बवाल शुरू कर दिया था कि अगर दूसरे दलों से कांग्रेस में आने वालों को पार्टी में प्राथमिकता दी जाएगी, तो इससे मूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच क्या संदेश जाएगा। उनका संदर्भ टीडीपी नेताओं का कांग्रेस जॉइन करने से था। यही नहीं पार्टी के एक और नेता उत्तम कुमार की ओर से आरोप लगाया गया था कि पीसीसी के 50% से अधिक सदस्य ऐसे नेता हैं जो पहले टीडीपी से जुड़े थे। वहीं, सालों से कांग्रेस के लिए काम करने वाले नेताओं को निराशा हाथ लगी है।

यूपी में Bharat Jodo Yatra से पहले कांग्रेस का घरवापसी प्‍लान, पार्टी ने शुरू किया ये अभियान

प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के 13 सदस्यों ने कुछ वरिष्ठ नेताओं की टिप्पणियों के विरोध में रविवार को इस्तीफा दे दिया। इन सदस्यों में कांग्रेस विधायक डी. अनसूया (सीतक्का) और पूर्व विधायक वी. नरेंद्र रेड्डी जैसे बड़े चेहरे भी शामिल हैं। राज नरसिंह ने जब यह टिप्पणी की तब कांग्रेस विधायक दल के नेता मल्लू भट्टी विक्रमार्क, लोकसभा सदस्य एन. उत्तम कुमार रेड्डी, पूर्व सांसद मधु यशकी गौड़ और पार्टी विधायक टी. जयप्रकाश रेड्डी भी उनके साथ मौजूद थे।

हाईकमान के भरोसे पीसीसी चीफ रेड्डी
इस पूरे घटनाक्रम में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और सांसद ए. रेवंत रेड्डी कुछ कहने को तैयार नहीं हैं। रेड्डी ने अंतर्कलह को लेकर पत्रकारों के सवालों का प्रत्यक्ष रूप से जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी आलाकमान इन सभी मुद्दों पर गौर करेगा। उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के निर्देशानुसार गांव से लेकर राज्य स्तर तक के नेता 26 जनवरी को तेलंगाना में पदयात्रा निकालकर राज्य सरकार और केंद्र सरकार की “नाकामियों” को उजागर करेंगे।

editor
I am a journalist. having experiance of more than 5 years.

Related Articles