Logo
  • May 23, 2024
  • Last Update April 12, 2024 4:42 pm
  • Noida

काशी 360

28वीं अन्तर वाहिनी पीएसी पूर्वी जोन हॉकी प्रतियोगिता में 36वीं वाहिनी रामनगर पीएसी जीती

Ramnagar PAC, 28वीं अन्तर वाहिनी पी0ए0सी0 पूर्वी जोन हॉकी प्रतियोगिता-2024 का फाइनल मैच 36वीं वाहिनी पीएसी रामनगर ने 34वीं वाहिनी पीएसी, वाराणसी को हराकर 3-0 से जीत ली। फाइनल मुकाबला 34 वीं वाहिनी वाराणसी एवं 36वीं वाहनी रामनगर के बीच खेला गया। मैच के प्रारंभ होने के पूर्व डॉ अनिल कुमार पाण्डेय, आयोजन सचिव/सेनानायक 36वीं वाहिनी पीएसी ने ऐस्ट्रो टर्फ ग्राउंड,बी0एच0यू0 पहुंच कर टीम मैनेजर से परिचय लिया । मैच…

Varanasi, सार्वजनिक शौचालय का रोका निर्माण, तोड़फोड़ करके माहौल बिगाड़ने की कोशिश

Varanasi, सारनाथ थाना क्षेत्र के कपिलधारा में शुक्रवार को उस समय स्थिति तनावपूर्ण हो गई जब दर्जनों ने सार्वजनिक पंचक्रोशी धर्मशाला में बन रहे सरकारी शौचालय निर्माण को रोकने के साथ भवन निर्माण सामग्री को फेंकना शुरू कर दिया। गुस्साए लोगों ने मिस्त्री और लेबरों को पीटना शुरू कर दिया। जिसके कारण क्षेत्र में माहौल बिगड़ गया। पुलिस के आने से पहले ही उत्पात मचाने वाले लोग भाग निकले। खबरों…

Varanasi, आठ ज्योतिर्लिंगों के पैदल दर्शन कर काशी पहुंचा कर्नाटक निवासी पूर्णानंद, स्वागत

Varanasi, आठ ज्योतिर्लिंगों के पैदल दर्शन कर काशी पहुंचा कर्नाटक निवासी पूर्णानंद, स्वागत  <iframe width=”914″ height=”514″ src=”https://www.youtube.com/embed/uioTa7BUrV8″ title=”Varanasi, आठ ज्योतिर्लिंगों के दर्शन कर काशी पहुंच कर्नाटक निवासी पूर्णानंद, आईपीएस चिनप्पा ने…” frameborder=”0″ allow=”accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture; web-share” allowfullscreen></iframe>

Varanasi, बिना कारण बताए ही शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद को पुलिस ने ज्ञानवापी जाने से रोका

Varanasi, एसएसआई की सर्वे रिपोर्ट में ज्ञानपवापी में मूल विश्वनाथ मंदिर के प्रमाण मिल जाने के बाद उस स्थान की परिक्रमा करने जा रहे शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती को पुलिस ने जबरन रोक दिया। शंकराचार्य महाराज सोमवार को पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शंकराचार्य घाट स्थित श्रीविद्या मठ से ज्ञानवापी जाना चाहते थे लेकिन पूरे मठ को ही पुलिस के जवानों ने घेर लिया था। बता दें कि 27 जनवरी को…

36वीं वाहिनी पीएसी रामनगर में धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस

36वीं वाहिनी पीएसी रामनगर में 75वॉ गणतंत्र दिवस बड़े धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर वाहिनी में सहायक सेनानायक राजेश कुमार के दिशा- निर्देशन व उपस्थित में ध्वजारोहण समारोह का आयोजन किया गया. सबसे पहले वाहिनी शहीद स्मारक पहुंचकर ध्वजारोहण किया गया व राष्ट्र व समाज की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित कर नमन किया गया. इसके बाद महोदय द्वारा…

ज्योतिष्पीठाधीश्वर शंकराचार्य जी महाराज का काशी आगमन, काशीवासियों में हर्ष

Varansi, परमाराध्य परमधर्माधीश ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती महाराज कल 27 जनवरी को काशी आने वाले है। इस सूचना से काशीवासियों,संतों व भक्तों में हर्ष,उल्लास की लहर दौड़ गई है। यह जानकारी देते हुए ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शंकराचार्य जी महाराज के मीडिया प्रभारी सजंय पाण्डेय ने बताया कि शंकराचार्य जी महाराज के काशी आगमन पर संतों व भक्तों द्वारा उनका विभिन्न तरीके से स्वागत व चरण पादुका पूजन कर उनका…

Varanasi, ज्ञानवापी के तीन शिलालेख में है महामुक्ति मंडप का उल्लेख एएसआई रिपोर्ट सार्वजनिक

Varanasi, ज्ञानवापी के तीन शिलालेख में है महा मुक्ति मंडप का उल्लेख एएसआई रिपोर्ट सार्वजनिक    

Varanasi, डर्बीशायर क्लब के तत्वाधान में गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन

Varanasi, डर्बीशायर क्लब के तत्वाधान में गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन

Varanasi, 36वीं वाहिनी पीएसी का 52वॉ संस्थापना दिवस मनाया गया

Varanasi, 36वीं वाहिनी पीएसी रामनगर वाराणसी का 52वॉ संस्थापना दिवस काफी भव्य,हर्षोल्लास व धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर आज सुबह राजेश कुमार – सहायक सेनानायक के द्वारा वाहिनी शस्त्रागार पर पूरे विधि -विधान के साथ शस्त्र पूजा व हवन किया गया तथा पीएसी परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं दी गई। पूजा के बाद प्रसाद वितरण किया गया. श्रीमान सहायक सेनानायक महोदय द्वारा बताया गया कि श्रीमान सेनानायक महोदय का…

राम मंदिर रामानंद संप्रदाय का तो उन्हें सौंपें , चंपतराय को इस्तीफा देना चाहिए- शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद

उत्तराम्नाय ज्योतिष्पीठ के जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामिश्रीः अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती महाराज ने कहा है कि यदि राम मंदिर रामानंद संप्रदाय का है तो मंदिर संप्रदाय को सौंप देना चाहिए। इसमें पूरे संत समाज को कोई आपत्ति नहीं होगी। कहा कि चंपत राय सहित सभी पदाधिकारियों को इस्तीफा देना चाहिए। शंकराचार्य जी ने कहा कि वे प्रधानमंत्री मोदी के विरोधी नहीं है , बल्कि उनके हितेषी हैं और इसलिए उन्हें सलाह दे रहे…
Load More